Beauty-At-Every-Age

At every stage of life, people are more concerned about their skin problems. Most of girls and boys start experimenting with beauty products in their adolescent age. They are only focused on short term fairness but prolonged use of such products may cause some side-effects on the skin such as formation of pimple, acne, zit, dark circles, dark patches and early signs of aging. In prior to that, Ayurvedic products which are developed by using validated herbs help to provide natural glow from inner side of body or prevent from pimples and acne. Roop Mantra Ayurvedic cream helps to enhance your natural glow at every stage of life. Roop Mantra is enriched with herbs which are used to get rid of pimples, acne, zit and premature signs of aging. Roop Mantra cream can be used by both men and women. Active ingredients used in Roop Mantra Ayurvedic cream work synergistically as an anti-oxidant, anti-septic and anti-microbial.

When we think about aging, first thing that comes in our mind is wrinkled face, rouge skin with turkey neck and grey hairs. These are the probably most visible or first signs of aging. These are the signs which show your skin changes or the process of degradation of skin cells with time. Aging is dynamic, complex and continuous process that begins with birth and end up with death. Follow these easy steps and get a natural beautiful skin at every stage of life:

1). Exfoliate your skin with Ayurvedic cream. Roop Mantra Ayurvedic cream and face wash are enriched with herbs which work synergistically to detoxify and exfoliate your skin. Roop Mantra cream also exhibits the anti-oxidant property which helps to remove the free radicals from the skin surface.

2). Moisturize your skin with Ayurvedic creams. Herbs like Aloe vera, Pyrus malus, ocimum sanctum, curcuma longa are help to nurture, lubricate and detoxify the skin naturally. Roop Mantra Ayurvedic fairness cream is enriched with 8 potent validated herbs which help to keep skin soft and supple.

3). Protect your skin from sun rays: Sun is rich source of Vitamin D but protect your skin from the excess exposure of Ultra violet rays as they can form a tan on your body or cause the overproduction of melanin on skin surface. Excess sun exposure can cause serious skin diseases such as skin cancer.

4). Take a balanced diet rich in proteins and whole grains which helps you to nourish the body from inside out. Drink a luke warm water, it help you to get hydrated

5). Wash your face and neck area daily. As cleansing is most important process of beauty regime. You can use cucumber herbal face wash as cucumber has capability to cleanse skin from deep inside.

6). Resist the temptation to touch the face. It is a very important part as with your palm numbers of bacteria transferred from hand to your face. These bacteria clogged the pores and cause acne, pimple. So, avoid the temptation to touch your face.

7). Cleanse, tone and moisturize twice a day. Use ayurvedic face wash for oily skin twice a day to get a natural glowing skin.

हर उम्र में सौंदर्य – आयुर्वेद – IN HINDI

जीवन के हर स्तर पर, लोगों को अपनी त्वचा की समस्याओं के बारे में अधिक चिंतित होने लगे हैं। अधिकतर लडकियां और लड़कों में किशोर अवस्था या महाविद्यालय के समय में सौंदर्य उत्पाद प्रयोग करना शुरू कर देते है. वे केवल कम समय में परिणाम वाले उत्पाद पर अपना ध्यान केन्द्रित करते है, जो त्वचा पर कुछ दुष्प्रभाव के कारण हो सकते है. इन सौंदर्य प्रसाधनों के कारण त्वचा पर दाना, मुँहासे, zit, काले घेरे, काले धब्बे और उम्र बढ़ने के साथ जैसे हानिकारक समस्या हो जाती है. उसके पहले में, आयुर्वेदिक उत्पादों जो मान्य जड़ी बूटियों का उपयोग करके शरीर के अंदर और बाहर प्राकृतिक चमक प्रदान करने और pimples और मुँहासे को होने से रोकने में मदद करते है. रूप मंत्रा आयुर्वेदिक क्रीम जीवन के हर स्तर पर अपनी त्वचा को प्राकृतिक चमक देने में मदद करता है। रूप मंत्रा में ऐसी समृद्ध, जड़ी बूटियों हैं जो दाने , मुँहासे, zit और उम्र बढ़ने के समय से पहले ही संकेत समस्या को छुटकारा पाया जा सकता है रूप मंत्रा क्रीम पुरुष और महिलाएं दोनों इस्तेमाल कर सकते है. आयुर्वेदिक रूप मंत्रा में इस्तेमाल हुए ऐसे सक्रिय घटक है जो की एंटी ऑक्सीडेंट, एंटी-सेप्टिक और एंटी माइक्रोबियल के रूप में हमारी त्वचा पर काम करते है.

जब हम बढ़ती उम्र के बारे में सोचते हैं, तो सबसे पहले, झुर्रीदार चेहरे, गर्दन और तुर्की ग्रे बाल के साथ लाली त्वचा, यही बात मन में आती है. क्यूंकि यही सबसे पहले संकेत दिखाई देते है, उम्र बढ़ने की. ये लक्षण हैं जो आपकी त्वचा के परिवर्तन या समय के साथ त्वचा कोशिकाओं के क्षरण की प्रक्रिया को दिखाते है. बढती उम्र, गतिशील और जटिल सतत प्रक्रिया है जोकि जन्म के साथ शुरू होती है और मौत के साथ ही खत्म होती है. प्राकृतिक चमक त्वचा को लम्बे समय तक चलाने के लिए आयुर्वेदिक सौंदर्य प्रसाधन उत्पादों कर सकते हैं, और जीवन के हर स्तर पर एक प्राकृतिक खूबसूरत त्वचा पाने के लिए इन आसान चरणों का पालन करें:-

1) आयुर्वेदिक क्रीम के साथ आपकी त्वचा का छूटना. रूप मंत्रा आयुर्वेदिक क्रीम और फेसवाश में जड़ी बूटियों हैं, जो त्वचा पर synergistically और detoxify करती है. रूप मंत्रा क्रीम भी एंटी ऑक्सीडेंट की संपत्ति है जो त्वचा की सतह को कण से मुक्त करने में मदद करता है

2) आयुर्वेदिक क्रीम से अपनी त्वचा को दें नमी दें. जड़ी-बूटियां जैसे-एलो-वेरा, सेब, तुलसी और हरिद्रा ये सब जड़ी-बूटियां त्वचा को प्राक्रतिक रूप से चिकना ओर detoxify करने में मदद करती है. आयुर्वेदिक रूप मंत्रा फेयरनेस क्रीम में मान्य 8 शक्तिशाली और समृद्ध मान्य जड़ी- बूटियां है, जो त्वचा को नरम और कोमल रखने में मदद करती है.

3) आपकी त्वचा को सूरज की किरणों से रक्षा करती है. सूर्य विटामिन डी का समृद्ध स्रोत है. यह हमारी त्वचा को अल्ट्रा वायलेट किरणों से रक्षा करती है, जैसा की आँख द्वारा जोखिम से आपकी त्वचा की रक्षा कर शरीर पर एक तन फार्म या त्वचा की सतह पर overproduction का कारण बन सकती । अधिक मात्रा में सूर्य अनाश्र्यता हमारी त्वचा को कैंसर जैसी गंभीर त्वचा रोग का कारण बन सकता है।

4) एक संतुलित आहार, प्रोटीन और साबुत अनाज से शरीर को अंदर से पोषण देने में मदद करता हो. हल्का गर्म पानी पीयें, यह जलयोजन करने में मदद करता है.

5) दैनिक जीवन में अपने चेहरे और गर्दन को धोएं. त्वचा की सफाई ही सौंदर्य शासन का सबसे महत्वपूर्ण प्रक्रिया है. रोजाना खीरे के फेस वॉश इस्तेमाल कर सकते है, क्यूंकि यह त्वचा को अंदर से साफ करने की क्षमता रखता है.

6) त्वचा को छूने में प्रलोभन का विरोध. यह हाथों द्वारा फैलने वाला हस्तांतरित बैक्टीरिया का एक बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है. ये बैक्टीरिया त्वचा में दाना और मुँहासे का कारण बनता है. तो इसीलिए अपने चेहरे को छूने से बचें.

7) प्राकृतिक चमक त्वचा पाने के लिए रोजाना दिन में दो बार आयुर्वेदिक उत्पादों का प्रयोग जरुर करें.

About The Author

Roop Mantra Ayurvedic Fairness Face Cream, Herbal Face Wash and Ayurvedic Capsules.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

Close